Enquire NowCall Back Whatsapp Lab report/login
एलर्जी - प्रतिरक्षा प्रणाली से संबंधित विकार

Home > Blogs > एलर्जी - प्रतिरक्षा प्रणाली से संबंधित विकार

एलर्जी - प्रतिरक्षा प्रणाली से संबंधित विकार

ENT- Otolaryngology | by Dr. Arjun Dasgupta | Published on 02/01/2024



एलर्जी - प्रतिरक्षा प्रणाली से संबंधित विकार

जब भी किसी से यह प्रश्न पूछता है कि “एलर्जी क्या है”, तो वह ये सोचते हैं कि एलर्जी एक रिएक्शन है, जिसका प्रभाव अचानक से ही मानव शरीर पर पड़ता है। जरा सोचिए यदि आपको रात भर खुजली से जूझना या छींकना पड़े या फिर खाना खाते ही आंख लाल हो जाए, तो आपकी स्थिति क्या होगी। यह सारे लक्षण एलर्जी के हैं। लाखों लोग इस स्थिति का सामना करते हैं, जिसका सही इलाज बहुत कम लोगों को पता होता है। तो आइए जानते हैं कि एलर्जी क्या है और समझते हैं कि इसे कैसे ठीक किया जा सकता है। 

एलर्जी क्या है?

एलर्जी त्वचा की रिएक्शन है, जो तब उत्पन्न होती है, जब व्यक्ति किसी विशिष्ट भोजन, कपड़े या ड्रग्स के संपर्क में आता है। एलर्जी शरीर से बाहर की वस्तुओं के संपर्क में आने से होती है, जिसे एलर्जन कहा जाता है। एलर्जी एक बहुत ही आम समस्या है, जो विशेष रूप से बच्चों को परेशान करती है। जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते हैं, स्थिति ठीक होती है और एलर्जी की समस्या से आराम मिलता है। लेकिन कुछ बच्चों में यह समस्या लंबे समय तक रहती है। 

यहां एक बात हर व्यक्ति को समझने की आवश्यकता है कि एलर्जी किसी को भी प्रभावित कर सकती है। एलर्जी एक ऐसी समस्या है, जिसके कारण व्यक्ति का दैनिक जीवन गंभीर रूप से प्रभावित हो सकता है। अधिकतर मामले कम गंभीर होते हैं, जिन्हें कुछ तरीकों से नियंत्रण में रखा जा सकता है। लेकिन कुछ मामले गंभीर मोड ले सकते हैं, जिसके लिए चिकित्सा सहायता की आवश्यकता पड़ती है। 

एलर्जी के प्रकार

कई प्रकार की एलर्जी एक व्यक्ति को परेशान करती है। नीचे कुछ आम प्रकार की एलर्जी है, जो एक व्यक्ति को परेशान कर सकती है - 

  • ड्रग एलर्जी: कुछ प्रकार की दवाओं के कारण व्यक्ति को एलर्जी का सामना करना पड़ सकता है। यह दवाएं उस व्यक्ति के शरीर के प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर सकती हैं। 
  • खाद्य पदार्थों से एलर्जी: कुछ लोगों को विशेष प्रकार के व्यंजन या फिर किसी खाद्य पदार्थ से एलर्जी होती है। यदि वह व्यक्ति उन खाद्य पदार्थों का सेवन कर ले, तो इसके कारण उस व्यक्ति के शरीर में कुछ प्रतिक्रियाएं होने लगती है।
  • कांटेक्ट डर्मेटाइटिस: यह डर्मेटाइटिस का एक प्रकार है। इस स्थिति में किसी पदार्थ को स्पर्श करने या फिर उसके कांटेक्ट में आने से त्वचा में लाल चकत्ते आदि बन जाते हैं।
  • लेटेक्स से होने वाली एलर्जी: प्रोटीन के कुछ प्रकार के कारण एलर्जिक रिएक्शन होता है। ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि लेटेक्स से एलर्जी पिछले कई बार लेटेक्स के संपर्क में आने के बाद विकसित होती है।
  • एलर्जिक अस्थमा: एलर्जिक अस्थमा में आपके शरीर के वायुमार्ग के द्वारा कुछ एलर्जेन शरीर में प्रवेश करते हैं। इस स्थिति में शरीर का वायुमार्ग उन एलर्जन के प्रति संवेदनशील हो जाता है और प्रतिरक्षा प्रणाली अत्यधिक प्रतिक्रिया करने लगती है। 
  • मौसमी एलर्जी: बदलते मौसम के कारण आंखों में पानी, खुजली, छींक और उनसे जुड़ी अन्य चीजें होती हैं। यह मौसमी एलर्जी होती है। 
  • जानवरों से एलर्जी: कुछ लोगों को जानवरों से एलर्जी होती है। जानवरों की त्वचा की कोशिकाएं, लार या मूत्र से रोगी को एलर्जी हो सकती है। 
  • एनाफिलेक्सिस: यह एक गंभीर, और जानलेवा एलर्जी है, जो पूरे शरीर को प्रभावित कर सकती है। यह प्रतिक्रिया किसी एलर्जेन के संपर्क में आने के कुछ सेकंड या मिनट के भीतर हो सकती है और व्यक्ति को परेशान कर सकती है। 
  • फफूंदी से एलर्जी: यह एक असामान्य स्थिति है, जिसमें हवा में फफूंदी के बीजाणु जलन या सूजन उत्पन्न करते हैं। इसके कारण उन्हें एलर्जी के लक्षणों का सामना करना पड़ता है।

एलर्जी के लक्षण

एलर्जी के लक्षणों की बात की जाए, तो कुछ सामान्य लक्षण है, जो एलर्जी के रोगी को परेशान कर सकते हैं जैसे - 

  • छींक और खुजली आना
  • बहती हुई नाक या बंद नाक 
  • त्वचा में रेडनेस और आंख से पानी आना
  • घरघराहट और सीने में जकड़न
  • सांस लेने में तकलीफ
  • होंठ, जीभ, आंखों या चेहरे पर सूजन
  • पेट में दर्द के साथ उल्टी या दस्त की समस्या
  • बीमार महसूस होना

हालांकि एलर्जी के गंभीर मामलों में कुछ दूसरे लक्षण दिखते हैं, जिससे जीवन को गंभीर रूप से खतरा हो सकता है। यदि आपको निम्नलिखित लक्षण महसूस होते हैं, तो जल्द से जल्द हमारे अनुभवी डॉक्टरों से संपर्क करें - 

  • गले और मुंह में सूजन
  • सांस लेने में तकलीफ
  • आलस और उलझन
  • त्वचा या होंठ पर नीलापन
  • बेहाशी

एलर्जी के कारण

एलर्जी के कारणों की बात करें, तो इसके कई कारण होते हैं। लेकिन कुछ पदार्थों की वजह से आपको एलर्जी की समस्या परेशान कर सकती है। यदि किसी को एलर्जी है, तो निम्न में से एक या फिर दो एलर्जी के मुख्य कारण हो सकते हैं - 

  • खाद्य पदार्थ जैसे नट्स, मछली, और अनाज के कारण एलर्जी
  • पशुओं के बालों की रूसी या लार
  • मधुमक्खी या अन्य कीड़ों द्वारा काटना
  • पेनिसिलिन या एस्पिरिन जैसी दवाएं
  • कुछ प्रकार के पौधे
  • फफूंदी या मोल्ड
  • धूल के कण

एलर्जी शरीर में किन अंगों को प्रभावित करती है?

एलर्जी होने पर विभिन्न लक्षणों का अनुभव किया जाता है। शरीर के किस भाग में एलर्जी होगी यह एलर्जन के ऊपर निर्भर करता है। एक ही समय पर एक से अधिक अंग एलर्जी से प्रभावित हो सकते हैं। एलर्जी के कारण निम्नलिखित अंग प्रभावित होते हैं - 

  • नाक, आंख, साइनस और गला
  • फेफड़े और छाती 
  • त्वचा 
  • पेट और आंत्र

एलर्जी का इलाज

एलर्जी का इलाज उसके प्रकार पर निर्भर करता है। चलिए एलर्जी के प्रकार के आधार पर उनके इलाज के बारे में जानते हैं - 

  • त्वचा की एलर्जी: स्किन एलर्जी के संबंध में आपको शरीर के अन्य भाग (खासकर चेहरे) को छूने से बचना होगा। यदि किसी भी कारणवश आपको प्रभावित अंग छूना पड़े, तो तुरंत नहा लें। इसके अतिरिक्त प्रभावित क्षेत्र की सफाई अच्छे से करें। यदि ज्यादा खुजली हो रही है, तो डॉक्टर से एंटी-इचिंग लोशन का सुझाव मांगे और उसे दिन में 3-4 बार लगाएं।
  • कीट आदि के काटने से एलर्जी: यदि कोई कीट काट ले, तो इसके बाद उस जगह को अच्छे से साफ करें और उस पर एंटीसेप्टिक दवा लगाएं। उसके बाद उस स्थान को पट्टी से ढक लें। यदि सूजन दिखती है, तो बर्फ की सेक लगाएं। यदि सूजन, दर्द और जलन है, तो आप डॉक्टर से सलाह लेकर इलाज प्राप्त कर सकते हैं। 
  • ड्रग से होने वाली एलर्जी: डॉक्टर इसके लिए कुछ एंटी-एलर्जी दवाएं देते हैं। स्वयं कोई दवा न लें और प्रयास करें कि डॉक्टरों के द्वारा बताए गए टाइमलाइन पर ही दवा लें। कुछ मामलों में डॉक्टर सिट्रीजिन की सलाह देते हैं। इन दवाओं का प्रभाव एक दिन के लिए रहता है, इसलिए एक दिन में एक गोली से अधिक न लें। 

हम शुरू से ही कह रहे हैं कि एलर्जी के गंभीर मामलों में आप डॉक्टरों से तुरंत परामर्श प्राप्त करें।

एलर्जी से संबंधित अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

 

एलर्जी ठीक होने में कितना समय लेती है?

आमतौर पर, एलर्जी के लक्षण कुछ घंटों से लेकर कुछ दिनों तक रहते हैं। यदि लंबे समय से कोई एलर्जी आपको परेशान कर रही है तो हम आपको सलाह देंगे कि तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें।

एलर्जी क्यों होती है?

हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली किसी बाहरी पदार्थ (एलर्जन) को हानिकारक मानकर उस पर प्रतिक्रिया करती है। इसके कारण हमें एलर्जी की समस्या हो सकती है। 

होठों पर एलर्जी क्यों होती है?

होठों की त्वचा बहुत संवेदनशील होती है, इसलिए यह एलर्जन के संपर्क में आने से अधिक आसानी से प्रभावित हो जाती है।

यदि मुझे किसी से एलर्जी है, क्या मेरे बच्चों को भी होगी?

एलर्जी जेनेटिकली भी व्यक्ति को परेशान कर सकती है। कई मामलों में देखा गया है कि व्यक्ति को एलर्जी विरासत में मिली है। 

यदि मुझे एक ही एलर्जी है, तो क्या मुझे और अधिक एलर्जी होने का खतरा है?

ऐसा होना जरूरी नहीं है। आम एलर्जी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में जा सकती है। कई बार देखा गया है कि एक व्यक्ति को केवल एक ही एलर्जन से एलर्जी होती है, जबकि कुछ व्यक्ति को कई चीजों से एलर्जी हो सकती है।