Enquire now
Enquire NowCall Back Whatsapp Lab report/login
सूखी खांसी का कारण और इलाज

Home > Blogs > सूखी खांसी का कारण और इलाज

सूखी खांसी का कारण और इलाज

Pulmonology | by Dr. Shyam Krishnan | Published on 24/07/2023



सूखी खांसी की समस्या एक व्यक्ति को कई कारणों से परेशान करती है। एलर्जी से लेकर वायरस तक बहुत सारी समस्याएं है, जिसके कारण एक व्यक्ति को सूखी खांसी की समस्या का सामना करना पड़ता है। हालांकि कुछ घरेलू उपचार और दवाएं हैं, जिससे व्यक्ति को सूखी खांसी से राहत मिल सकती है। इस ब्लॉग में उन सभी पहलुओं के बारे में हम बात करेंगे जिससे सूखी खांसी के बारे में पूर्ण जानकारी आपको मिल जाए।

इस ब्लॉग में मौजूद जानकारी एक सामान्य जानकारी है, इसलिए स्वयं दवा या इलाज लेने से पहले एक अच्छे पल्मोनोलॉजिस्ट से परामर्श ज़रूर करें।

सूखी खांसी क्या है?

सूखी खांसी को चिकित्सकीय भाषा में नॉन प्रडक्टिव कफ के रूप में जाना जाता है। यह एक प्रकार की खांसी है, जिसमें बलगम या कफ नहीं बनता है। इसमें गले में लगातार, खड़खड़ाहट या गुदगुदी की अनुभूति होती है, जिससे व्यक्ति को बिना किसी डिस्चार्ज के बार-बार खांसी होती है।

सूखी खांसी विभिन्न कारकों के कारण हो सकती है, जैसे श्वसन संक्रमण (जैसे सामान्य सर्दी या फ्लू), एलर्जी, जलन पैदा करने वाले पदार्थ (जैसे धुआं या धूल), वायु प्रदूषण, या कुछ दवाएं। कुछ मामलों में यह किसी अंतर्निहित चिकित्सा स्थिति का लक्षण भी हो सकते हैं, जैसे अस्थमा, गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स रोग (जीईआरडी), या क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी)

सूखी खांसी के इलाज का उद्देश्य अंतर्निहित कारण को कम करना और जलन को कम करना है। ओवर-द-काउंटर दवाएं, लोजेंज और हाइड्रेटेड रहने से अस्थायी राहत मिल सकती है। हालांकि, यदि खांसी बनी रहती है, तो उचित मूल्यांकन और प्रबंधन के लिए चिकित्सा सलाह अवश्य लें।

सूखी खांसी का कारण

सूखी खांसी कई कारणों से शुरू हो सकती है, जिसके विकास में विभिन्न अंतर्निहित कारणों का योगदान होता है। सूखी खांसी के कुछ सबसे सामान्य कारणों में शामिल हैं -

  • श्वसन संबंधी संक्रमण जैसे सर्दी और फ्लू
  • पराग, पालतू जानवरों की रूसी और धूल से एलर्जी
  • उत्तेजक पदार्थ जैसे धुआं, प्रदूषक और कई रसायन पदार्थ
  • गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स रोग (जीईआरडी)
  • दमा
  • दवाएं (एसीई अवरोधक)
  • शुष्क हवा (सूखी हवा)
  • फेफड़ों की अंतर्निहित स्थितियां (क्रोनिक ब्रोंकाइटिस, सीओपीडी)

लगातार या संबंधित लक्षणों के लिए चिकित्सीय मूल्यांकन कराएं। उपचार अंतर्निहित कारण की पहचान करने और उसका समाधान करने पर निर्भर करता है।

सूखी खांसी का लक्षण

सूखी खांसी अलग-अलग लक्षणों के साथ प्रकट होती है, जो इसे अन्य प्रकार की खांसी से अलग करती है। सूखी खांसी की प्रमुख विशेषताओं में शामिल हैं - 

  • बलगम की अनुपस्थिति: सूखी खांसी में बलगम नहीं बनता है। लगातार खांसी के साथ बलगम का न निकलना दर्शाता है कि आप सूखी खांसी का सामना कर रहे हैं। वहीं गीली खांसी में बलगम मौजूद होता है जिसका इलाज थोड़ा अलग है।
  • लगातार जलन होना: गले और वायु मार्ग में जलन या खुजली महसूस होना भी सूखी खांसी का एक लक्षण है। 
  • हैकिंग या गुदगुदी: इस स्थिति में ऐसा लगता है कि आपके गले में कुछ फंसा हुआ है या फिर किसी चीज ने आपके गले को अंदर से पकड़ा है। इसके कारण बात करने, हंसने या गहरी सांस लेने में तकलीफ होती है। 
  • तेज खांसी आना: सूखी खांसी बहुत ज्यादा तेज आती है, जो अक्सर आपको हंसने, या व्यायाम करने में असहजता महसूस कराती है। 
  • रात में सूखी खांसी आना: अक्सर सूखी खांसी व्यक्ति को रात में परेशान करती है। इसके कारण सोने में भी तकलीफ होती है।
  • अंतर्निहित कारण: सूखी खांसी स्वयं एक लक्षण है, लेकिन यह किसी अंतर्निहित स्थिति का भी संकेत देती है। श्वसन संक्रमण, एलर्जी, अस्थमा, जीईआरडी, या कुछ दवाएं के साइड इफेक्ट भी सुखी खांसी के संकेत देते हैं।

सबसे पहले आपको यह नोट करना होगा कि सूखी खांसी कितने दिनों से परेशान कर रही है। यदि यह समस्या आपको कुछ दिनों से है, तो यह डरने वाली स्थिति नहीं है। लेकिन यदि यह समस्या आपको अधिक समय से परेशान कर रही है और इसके साथ-साथ आप बुखार, सीने में दर्द और सांस की तकलीफ या वजन घटाने जैसे समस्या का सामना कर रहे हैं, तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें। इससे उचित इलाज प्राप्त करने में मदद मिलेगी। 

सूखी खांसी का इलाज

सूखी खांसी का इलाज मुख्य रूप से अंतर्निहित कारण का पता लगाने और रोगसूचक राहत प्रदान करने पर निर्भर करता है। सूखी खांसी के प्रबंधन और उपचार के लिए उपयोग किए जाने वाले कुछ सामान्य तरीके नीचे दिए गए हैं - 

  • अंतर्निहित कारणों का पता लगाना जैसे, संक्रमण, एलर्जी, जीईआरडी
  • राहत के लिए सूखी खांसी का सिरप (प्रिस्क्रिप्शन के साथ)
  • गले को आराम देने के लिए हाइड्रेटेड रहें।
  • हवा में नमी जोड़ने के लिए ह्यूमिडिफायर का उपयोग करें।
  • वायुमार्ग को नम करने के लिए भाप लें।
  • धुएं और धूल जैसी जलन पैदा करने वाली चीजों से बचें।
  • सोते समय सिर ऊंचा रखें।

यदि सूखी खांसी बनी रहती है या स्थिति बिगड़ जाती है, या बुखार, सीने में दर्द या सांस लेने में कठिनाई जैसे अन्य लक्षण सूखी खांसी के साथ आपको परेशान कर रहे हैं, तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें। एक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता सूखी खांसी के विशिष्ट कारण को प्रभावी ढंग से संबोधित करने के लिए उचित मूल्यांकन, सटीक निदान और व्यक्तिगत उपचार योजना प्रदान कर सकते हैं। हालांकि कम गंभीर मामलों में घरेलू उपाय कारगर साबित हो सकते हैं। चलिए कुछ के बारे में जानते हैं।

लगातार सूखी खांसी के लिए घरेलू उपाय

सूखी खांसी के लिए कई प्रभावी घरेलू उपचार सुखदायक राहत प्रदान कर सकते हैं जैसे - 

  • गले की जलन को कम करने के लिए एक चम्मच शहद का सेवन करना या इसे गर्म पानी या हर्बल चाय के साथ मिला कर पीने से लाभ मिलेगा।
  • ताजे अदरक के टुकड़ों को गर्म पानी में डुबोकर और शहद और नींबू मिलाकर बनाई गई अदरक की चाय भी अपने सूजनरोधी गुणों के लिए विख्यात है जो सूखी खांसी की स्थिति में मदद करेगी।
  • सिर पर तौलिया रखकर गर्म पानी की कटोरी से भाप लेने से वायु मार्ग में नमी आती है और जलन से राहत मिलती है। 
  • गर्म नमक के पानी से गरारे करने से गले की सूजन और खांसी कम हो जाती है। 
  • बेडरूम में ह्यूमिडिफायर या वेपोराइज़र का उपयोग करने से हवा में नमी आती है और शुष्कता से बचाव होता है। 
  • हल्दी वाला दूध, जिसमें हल्दी पाउडर को गर्म दूध और शहद के साथ मिलाया जाता है, सूजन-रोधी लाभों वाला एक और उपाय है।
  • मुलेठी की जड़ की चाय, जिसे गर्म पानी में मुलेठी की जड़ को डुबोकर बनाया जाता है। यह चाय गले की समस्या को दूर कर सकती है और खांसी से राहत दिला सकती है। 
  • खूब सारा तरल पदार्थ पीने से शरीर हाइड्रेट रहता है, जिससे गले को नम रखने में मदद मिलती है। 

लेकिन बच्चों की सूखी खांसी का इलाज थोड़ा अलग होता है। यदि आपके बच्चों को सूखी खांसी की समस्या है, तो इसको नियंत्रित करने के लिए दिन में एक से तीन बार एक चम्मच शहद का सेवन करें। शहद के कई सारे मेडिकल बेनिफिट है, जिससे कई सारी बीमारियों का इलाज संभव है। याद रखें कि लगातार या बिगड़ती सूखी खांसी के लिए तत्काल चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

 

सूखी खांसी का इलाज क्या है?

सूखी खांसी के उपचार में संक्रमण, एलर्जी या जीईआरडी जैसे अंतर्निहित कारण को संबोधित करना शामिल है। खांसी दबाने वाली दवाओं, हाइड्रेटेड रहने, ह्यूमिडिफायर का उपयोग करने और शहद या अदरक की चाय जैसे घरेलू उपचारों को आज़माने से लक्षणात्मक राहत प्राप्त किए जा सकते हैं। यदि खांसी बनी रहती है या बिगड़ जाती है तो चिकित्सकीय सहायता लें।

सूखी खांसी में क्या नहीं खाना चाहिए?

सूखी खांसी के दौरान, उन खाद्य पदार्थों से बचना सबसे अच्छा है जो गले में जलन पैदा कर सकते हैं और खांसी को बढ़ा सकते हैं, जैसे मसालेदार और अम्लीय भोजन, तली हुई और चिकनी चीजें और ठंडे पेय पदार्थ। यह खाद्य पदार्थ गले की सूजन और परेशानी को बढ़ा सकते हैं। इसके बजाय, शरीर की उपचार प्रक्रिया का समर्थन करने के लिए हर्बल चाय जैसे सुखदायक और गर्म तरल पदार्थ और आसानी से पचने योग्य, पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों का चयन करें।

सूखी खांसी कितने दिन में ठीक होती है?

सूखी खांसी की अवधि इसके अंतर्निहित कारण के आधार पर भिन्न होती है। कुछ मामलों में, यह कुछ दिनों से एक सप्ताह के भीतर ठीक हो जाती है, जबकि अन्य में यह कई हफ्तों तक बनी रह सकती है। यदि खांसी लंबे समय तक अन्य संबंधित लक्षणों के साथ बनी रहती है, तो चिकित्सा मूल्यांकन की सलाह दी जाती है।

सूखी खांसी में क्या खाना चाहिए

शहद, तुलसी, अदरक, प्याज, नींबू, लहसुन, और काली मिर्च जैसे खाद्य पदार्थ सूखी खांसी की स्थिति में लाभकारी साबित हो सकते हैं। यह खाद्य पदार्थ लाभकारी तो होते हैं, लेकिन इनका सेवन एक सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। 

8 महीने के बच्चे को खांसी हो तो क्या करें?

8 महीने का बच्चा बहुत नाजुक होता है और उन्हे खांसी एवं जुकाम ज्यादा होता है। निम्नलिखित उपाय बच्चों के लिए लाभकारी साबित हो सकते हैं - 

  • बच्चे को खूब सारा पानी पिलाएं।
  • बच्चे को गर्म दूध दें, जिसमें शहद मिला हुआ हो।
  • बच्चे को धूम्रपान वाले क्षेत्र से दूर रखें।

अधिक समस्या लगने पर पिड्रिटिशियन से परामर्श लें और इलाज लें।

सूखी खांसी क्यों आती है?

सूखी खांसी का सबसे आम कारण वायरल संक्रमण है, जैसे कि सर्दी या फ्लू। सूखी खांसी के अन्य कारणों में एलर्जी, धूम्रपान, एसिड रिफ्लक्स, और अस्थमा शामिल हैं।

सूखी खांसी का रामबाण इलाज क्या है?

सूखी खांसी का कोई भी रामबाण इलाज नहीं है। हालांकि दवाओं और कुछ घरेलू उपायों की मदद से सूखी खांसी से राहत मिल सकती है। अधिक समस्या आने पर अपने डॉक्टर से विचार करें।

सूखी खांसी के लिए क्या करना चाहिए?

सूखी खांसी के लिए निम्नलिखित निर्देशों का पालन करना चाहिए - 

  • पर्याप्त आराम करें।
  • खूब सारा पानी पिएं।
  • घरेलू उपचारों का प्रयोग करें, जैसे कि शहद, तुलसी, अदरक, प्याज, नींबू, लहसुन, और काली मिर्च का सेवन करें।

यदि 10 दिनों तक स्थिति ज्यों कि त्यों बनी रहती है या अन्य लक्षण जैसे कि बुखार, सांस लेने में तकलीफ, या बलगम में खून आने जैसी समस्या बनी रहती है तो तुरंत एक श्रेष्ठ डॉक्टर से मिलें और इलाज के विकल्पों पर चर्चा करें।