Enquire NowCall Back Whatsapp Lab report/login
हेमाट्यूरिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Home > Blogs > हेमाट्यूरिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

हेमाट्यूरिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Renal Sciences | Posted on 02/08/2024 by Dr. Ashwini Sharma



हेमाट्यूरिया पेशाब में खून आने की समस्या का चिकित्सा नाम है। इस स्थिति के निदान के तुरंत बाद इलाज बहुत ज्यादा अनिवार्य हो जाता है। हम ऐसा इसलिए कह रहे है, क्योंकि पेशाब में खून आना बहुत सारी समस्याओं का संकेत देता है। यह स्थिति कई बीमारियों से जुड़ी होती है और समय पर उचित इलाज न मिलना जानलेवा साबित हो सकता है। चलिए पेशाब में खून आने के लक्षण, कारण, प्रकार और इलाज के बारे में विस्तृत रूप से जानते हैं।

लेकिन आपको एक बात समझनी होगी कि यह जानकारी एक सामान्य जानकारी है, जिसकी मदद से आप उचित इलाज प्राप्त कर पाएंगे। इसके लिए आप हमारे डॉक्टरों से भी संपर्क कर सकते हैं।

हेमाट्यूरिया क्या है?

हमने आपको पहले ही बताया है कि मूत्र में रक्त आने की स्थिति को हेमाट्यूरिया कहा जाता है। मूत्र में रक्त संकेत करता है कि आपके स्वास्थ्य में कुछ समस्या है। पेशाब में रक्त आप स्वयं भी देख कर पता कर सकते हैं। कुछ मामलों में यह मूत्र परीक्षण से ही पता चलता है।

इस स्थिति को नजर अंदाज नहीं करना चाहिए। यदि आपको मूत्र में रक्त होने का संदेह हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और उचित इलाज प्राप्त करें। कुछ लक्षणों होते हैं, जो हेमाट्यूरिया का संकेत देते हैं, जिनके बारे में नीचे आपको पढ़ने को मिल जाएगा।

हेमाट्यूरिया के प्रकार

दो प्रकार के हेमाट्यूरिया एक व्यक्ति को परेशान करते हैं जैसे - 

  • माइक्रोस्कोपिक हेमाट्यूरिया: इस प्रकार के हेमाट्यूरिया में मूत्र में रक्त की मात्रा बहुत कम होती है। इस प्रकार के हेमाट्यूरिया में रक्त को देख पाना मुश्किल होता है। इस स्थिति में मूत्र में रक्त के निदान के लिए माइक्रोस्कोप का प्रयोग किया जाता है।
  • ग्रोस हेमाट्यूरिया: जब पेशाब में बहुत अधिक मात्रा में रक्त मौजूद होता है, तो इसे ग्रोस हेमाट्यूरिया कहा जाता है। इस स्थिति का निदान रोगी स्वयं कर सकते हैं और वह अपने मूत्र में रक्त को देख सकते हैं।

पेशाब में खून आने के लक्षण

हेमाट्यूरिया स्वयं एक लक्षण है। इस रोग से पीड़ित लोगों को अन्य लक्षण दिख सकते हैं जैसे -

  • पीठ या कमर में एकतरफा दर्द होना
  • पेट के निचले भाग में दर्द होना
  • अचानक से पेशाब आना
  • पेशाब करने में समस्या

कई बार ऐसा देखा गया है कि पेशाब में अधिक मात्रा में रक्त का होना संकेत देता है कि रोगी के शरीर में रक्त के थक्के जमा है। खून का थक्का पेशाब के प्रवाह में बाधा उत्पन्न कर सकता है, जिसके कारण अचानक अत्यंत तेज दर्द और पेशाब करने में समस्या उत्पन्न हो सकती है।

पेशाब में खून आने के कारण

पेशाब में खून की उपस्थिति के पीछे कई कारण होते हैं जैसे -

  • मूत्राशय में संक्रमण: मूत्राशय में संक्रमण को सिस्टाइटिस, जिसमें रोगी पेशाब करते समय दर्द व जलन का सामना करते हैं।
  • किडनी इन्फेक्शन या कैंसर: गुर्दे के संक्रमण में शरीर का तापमान बढ़ जाता है और पेट में एकतरफा दर्द होता है। इसके अतिरिक्त किडनी कैंसर की स्थिति में भी पेशाब में खून आता है। किडनी कैंसर एक गंभीर समस्या है और इसके इलाज में किसी भी प्रकार की देरी नहीं करनी चाहिए।
  • गुर्दे में पथरी (किडनी स्टोन): कई बार बिना दर्द के भी गुर्दे में पथरी की समस्या हो सकती है। उस मामले में मूत्र में रक्त इस स्थिति का मुख्य लक्षण होता है। लेकिन अनुपचारित किडनी स्टोन के कारण पेट में दर्द बहुत ज्यादा बढ़ सकता है, जो आप सहन भी न कर पाएं।
  • यूरेथ्राइटिस: यह एक ऐसी स्थिति है, जिसमें मूत्रमार्ग में सूजन आ जाती है। इस प्रकार की समस्या अक्सर यौन संचारित रोगों (STI) के कारण उत्पन्न होती है।
  • एंलार्ज प्रोस्टेट ग्लैंड: वृद्ध पुरुषों में यह समस्या बहुत ज्यादा आम है। यहां एक बात का ध्यान रखना होगा कि इस रोग का संबंध प्रोस्टेट कैंसर से नहीं है। प्रोस्टेट ग्लैंड का बढ़ा हुआ आकार मूत्रमार्ग में जगह घेर लेता है और उसे दबा देता है, जिसके कारण मूत्र में रक्त दिखने लगता है।
  • मूत्राशय में कैंसर: 50 साल के उम्र से अधिक के लोगों को इस समस्या का सबसे ज्यादा सामना करना पड़ता है। 
  • प्रोस्टेट कैंसर: प्रोस्टेट कैंसर किसी को भी प्रभावित कर सकता है, लेकिन जिनकी उम्र 50 से ज्यादा होती है, वह इस रोग से अधिक पीड़ित होते हैं।

कुछ अन्य स्वास्थ्य स्थिति या अन्य कारक के कारण भी पेशाब में खून आ सकता है जैसे -

  • मूत्र मार्ग में पथरी
  • बैक्टीरियल या वायरल संक्रमण।
  • कुछ खाद्य पदार्थ पेशाब को गुलाबी रंग में बदल देते हैं, जैसे चुकंदर। लेकिन इसका संबंध किसी भी स्वास्थ्य समस्या से नहीं होता है।
  • मासिक धर्म के दौरान भी पेशाब में खून आ सकता है।

पेशाब में खून आने पर क्या करें

यदि किसी भी व्यक्ति को अपने पेशाब में रक्त दिखे तो तुरंत डॉक्टर से इस बारे में बात करें। आप एक या फिर दो दिन की प्रतीक्षा कर सकते हैं। लेकिन पेशाब में अधिक मात्रा में रक्त की मौजूदगी, पेशाब करते समय तेज दर्द, या पेशाब करते समय कठिनाई दर्शाती है कि आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। 

निम्नलिखित स्थितियों में आपको तुरंत डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए - 

हेमाट्यूरिया का इलाज

हेमाट्यूरिया का इलाज कारण के आधार पर ही होते हैं। अधिकतर लोगों में हेमाट्यूरिया का इलाज संभव होता है। इस स्थिति का समय पर इलाज मूत्र पथ के कैंसर से बचा सकता है। निम्न तरीकों से पेशाब में खून का इलाज संभव है - 

  • मूत्राशय के संक्रमण के लिए एंटीबायोटिक दवाएं। 
  • बढ़े हुए प्रोस्टेट के इलाज के लिए दवाएं।
  • मूत्राशय या गुर्दे की पथरी को तोड़ने के लिए अलग अलग प्रक्रियाएं जैसे शॉक वेव थेरेपी 

मुख्य रूप से जिस कारण से पेशाब में खून आ रहा है, उसी का इलाज किया जाता है। वहीं कुछ मामलों में इलाज की आवश्यकता नहीं पड़ती है। 

यहां एक बात का और ध्यान रखना होगा कि जब तक आपके पेशाब में रक्त की मात्रा खत्म नहीं होती है, तब तक डॉक्टर से परामर्श लेते रहें।

निष्कर्ष

आपको समझने की आवश्यकता है कि पेशाब में खून आने की समस्या कोई छोटी समस्या नहीं है। यदि आप भी इस स्थिति का सामना कर रहे हैं या आप ऊपर बताए लक्षणों का सामना कर रहे हैं, तो आपको तुरंत एक विशेषज्ञ डॉक्टर से मिलना चाहिए। यदि आप स्थिति को जरा भी नजरअंदाज करते हैं, तो इससे आपको बहुत नुकसान हो सकता है।

हेमाट्यूरिया से संबंधित अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न

 

पेशाब में खून आने पर क्या खाना चाहिए?

पेशाब में खून आने की स्थिति में आपको कुछ बातों का विशेष ध्यान देना चाहिए जैसे -

  • खूब सारा पानी पिएं।
  • फल और सब्जियों को अपने आहार में जोडें।
  • फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ खाएं।
  • प्रोटीन को भी अपने आहार में शामिल करें।
  • विटामिन सी से आपको लाभ मिलेगा

क्या पेशाब में खून आना ठीक हो सकता है?

पेशाब में खून आना हमेशा गंभीर नहीं होता है। कुछ मामलों में, यह एक अस्थायी स्थिति का संकेत देता है। इसलिए हेमाट्यूरिया से डरने की आवश्यकता नहीं है।

क्या पेशाब में खून आना गंभीर है?

जिन लोगों को मूत्र में खून दिखाई देता है उन्हें बिना देर किए डॉक्टर से मिलना चाहिए। मूत्र में रक्त दिखना एक गंभीर स्थिति है।