Enquire NowCall Back Whatsapp Lab report/login
सफेद दाग (विटिलिगो) - लक्षण, कारण, प्रकार, बचाव

Home > Blogs > सफेद दाग (विटिलिगो) - लक्षण, कारण, प्रकार, बचाव

सफेद दाग (विटिलिगो) - लक्षण, कारण, प्रकार, बचाव

Dermatology | Posted on 04/17/2023 by Dr. Asma Akhlaq



त्वचा पर किसी भी प्रकार की असामान्यता एक गंभीर समस्या की तरफ इशारा करता है। त्वचा पर पाया जाने वाला कोई भी सफेद धब्बा एक खतरनाक स्थिति का संकेत देता है, जो पूरे शरीर में फैल सकता है और आपको परेशान कर सकता है। अक्सर लोगों को पता ही नहीं चल पाता है कि ऐसा क्यों हो रहा है। 

सबसे पहले हम आपको सलाह देंगे कि सफेद दाग दिखने पर आप शांत रहे और हमारे या फिर किसी भी श्रेष्ठ त्वचा विशेषज्ञ से मिलें। इस स्थिति में किसी भी ब्लॉग से पढ़कर स्वयं इलाज न करें। इस ब्लॉग के द्वारा आपको सफेद दाग के बारे में वह सभी सामान्य जानकारी मिल जाएगी, जिसका ज्ञान एक व्यक्ति को होनी चाहिए।

सफेद दाग (विटिलिगो) क्या होता है?

सफेद दाग को अंग्रेजी भाषा में विटिलिगो कहा जाता है। आपने भी शायद अपनी जिंदगी में एक न एक बार विटिलिगो से पीड़ित व्यक्ति को जरूर देखा होगा। ऐसा देखा जाता है कि उनके शरीर के लगभग सभी अंगों पर सफेद धब्बे होते हैं, जो ज्यादातर पैरों, चेहरे, और हाथों पर दिखते हैं।

विटिलिगो यानी सफेद दाग स्किन से संबंधित बीमारियों में से एक बीमारी है, जो खून से संबंधित एलर्जी, गलत खाना-पीना और स्किन इन्फेक्शन के कारण होता है।

सफेद दाग होने के लक्षण

विटिलिगो की शुरुआत शरीर में खुजली से होती है। इसके बाद शरीर के अलग-अलग भाग पर सफेद रंग के छोटे या बड़े दाग दिखने लगते हैं। आमतौर पर यह दाग बाद में मरीज को किसी भी तरह की तकलीफ तो नहीं देते, लेकिन कई बार इनकी वजह से दूसरे लोग उनसे डरते और दूर भागते हैं। यही वजह है, जिसके कारण वह तनाव, हीनभावना, सुसाइडल अटेम्प्ट्स का शिकार होते हैं।

वहीं, स्किन कलर का फीका पड़ना इसका एक लक्षण है। इसके अलावा, बहुत सारे मामलों में मुंह के अंदर के टिशू का रंग बदलना, गर्दन पर सफेद दाग, पीठ पर सफेद दाग, और आंखों के रेटिना की अंदर की परत का रंग फीका पड़ना भी देखा जाता है।

सफेद दाग क्यों होते हैं?

अक्सर लोगों के मन में यह प्रश्न उठता है कि सफेद दाग क्यों होता है? त्वचा में सफेद दाग बनने के कई कारण है। हमारे डॉक्टरों का मानना है कि त्वचा में सफेद दाग तब बनते हैं, जब एक व्यक्ति के शरीर के रंग उत्पादन करने वाली कोशिकाएं (मेलानोसाइट्स) अपना काम करना बंद कर देते हैं। यह कोशिकाएं हमारे बाल, त्वचा, होंठ आदि को रंग प्रदान करती हैं, जिससे हमारा व्यक्तित्व और निखर कर आता है। 

विटिलिगो एक ऐसी स्थिति है, जिसमें त्वचा का रंग हल्का पड़ने लग जाता है या सफेद हो जाता है। हालांकि अभी भी इन कोशिकाओं की मृत्यु के सही कारणों का पता लगाने के लिए शोध जारी है। हालांकि कुछ संभावित कारण इस प्रकार है - 

  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण रंग उत्पादन करने वाली कोशिकाओं की मृत्यु हो जाती है।
  • स्व-प्रतिरक्षित रोग (ऑटो इम्यून डिजीज) जैसे, थायरॉयड रोग या टाइप 1 डायबिटीज के कारण भी त्वचा के रंग में बदलाव देखा जाता है।
  • त्वचा का अधिक धूप, तनाव या औद्योगिक केमिकल्स के संपर्क में आना। 
  • जेनेटिक कारण

सफेद दाग (विटिलिगो) कितने प्रकार के होते हैं?

विटिलिगो के प्रकार, दाग के रंग और उसके आकार पर निर्भर करता है। इन कारकों के आधार पर सफेद दाग को निम्नलिखित प्रकारों में विभाजित किया गया है - 

  • यूनिवर्सल विटिलिगो: इस प्रकार का विटिलिगो शरीर के किसी भी भाग में हो सकता है। यानी कि इस प्रकार का सफेद दाग चेहरे से लेकर पैरों तक सभी जगह पर होता है।
  • सेगमेंटल विटिलिगो: यह शरीर के किसी खास हिस्से में होता है। आमतौर पर यह 1 से 2 साल तक फैलता है और उसके बाद ही इसका फैलाव रुकता है।
  • सामान्यीकृत विटिलिगो: यह सबसे आम प्रकार का विटिलिगो है, जो शरीर के किसी भी भाग पर हो सकता है और कभी भी बढ़कर रुक भी सकता है।
  • फोकल विटिलिगो: फोकल विटिलिगो आकार में छोटा होता है और केवल शरीर के किसी एक खास भाग को ही प्रभावित करता है।
  • एग्रोफेशियल विटिलिगो: यह विटिलिगो खासकर चेहरे पर होता है और कभी-कभी हाथों पैरों पर दिखता है।

विटिलिगो में परहेज

सफेद दाग में परहेज के तौर पर मरीजों को शराब, कॉफी, मांस-मच्छी, अचार, लाल मांस, टमाटर के बने उत्पाद, फलों का रस और सिगरेट से बचने की सलाह दी जाती है।

इसकी जगह फल जैसे सेब, केला, अंजीर, खरबूज, खजूर, मूली, गाजर और हरी पत्ती वाली सब्जियों का सेवन सेहत के लिए अच्छा होता है और बीमारी से बाहर आने में मददगार साबित होता है।

विटिलिगो का इलाज त्वचा के रंग को बहाल करके उसकी स्थिति को बदलने पर आधारित होता है। हालांकि यह आमतौर पर स्थायी नहीं होते और साथ ही इसके प्रसार को पूरी तरह नियंत्रित नहीं कर सकते हैं। ऐसे में निम्नलिखित तरीकों से सफेद दाग में परहेज संभव है - 

  • धूप से बचाव: विटिलिगो की स्थिति में सनबर्न एक गंभीर जोखिम है। ऐसा देखा गया है कि जब आपकी त्वचा यानी स्किन सूर्य की रौशनी के संपर्क में आती है, तो यह पराबैंगनी (यूवी) किरणों से बचाने में मदद करने के लिए मेलेनिन नाम के वर्णक यानी पिगमेंट का उत्पादन करती है। ऐसे में अगर आपको विटिलिगो है, तो इसका मतलब है कि आपकी त्वचा में पर्याप्त मेलेनिन नहीं है। अपनी त्वचा को सनबर्न और लंबे समय के नुकसान से बचाने के लिए आदर्श रूप से 30 या उससे अधिक के सन प्रोटेक्शन फैक्टर (एसपीएफ) वाली सनस्क्रीन लगानी चाहिए। 
  • विटामिन डी: यदि आपकी त्वचा धूप के संपर्क में नहीं आती है, तो ऐसे में विटामिन डी की कमी का खतरा बढ़ जाता है। हड्डियों और दांतों को स्वस्थ रखने के लिए विटामिन डी बेहद जरूरी है और सूर्य का प्रकाश या रोशनी विटामिन डी का मुख्य स्रोत है। इसका एक रूप कुछ खाद्य पदार्थों में भी पाया जाता है, जैसे दूध। लेकिन सिर्फ भोजन और सूर्य के प्रकाश से शरीर के लिए पर्याप्त विटामिन डी प्राप्त करना मुश्किल है। ऐसे में आपको विटामिन डी के 10 माइक्रोग्राम (एमसीजी) युक्त दैनिक सप्लीमेंट लेने की सलाह दी जाती है।
  • त्वचा पर टैटू ना बनवाना: यहां आपको एक बात का खास ध्यान देना होगा कि टैटू न बनाना विटिलिगो का कोई इलाज नहीं है, लेकिन टैटू से त्वचा को नुकसान हो सकता है। टैटू बनवाते समय जब त्वचा टूटती है तो 2 हफ्ते के भीतर सफेद धब्बे भी बनने लगते हैं।

कुछ अन्य घरेलू उपचार है, जिससे रोगी को लाभ मिल सकता है जैसे - 

  • तांबे से बने बर्तन में पानी पिएं और भोजन करें। 
  • अंजीर का सेवन करें
  • अदरक का रस पिएं 
  • अनार के पत्तों को सुखाकर उसका पाउडर बनाएं और 8 ग्राम पाउडर को पानी में मिलाकर रोज सुबह पिएं
  • नियमित रूप से छाछ का सेवन करें

यह सारे घरेलु उपचार कई मामलों में कारगर साबित हुए हैं, लेकिन यह आवश्यक नहीं है कि हर व्यक्ति को इससे लाभ मिले। अधिक जानकारी के लिए आप अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से संपर्क कर सकते हैं और इलाज के विकल्पों पर विचार कर सकते हैं। 

सफेद दाग का उपचार

मुंह में सफेद दाग का इलाज कई तरीकों से संभव है। डॉक्टर स्थिति के आधार पर मेडिकल, सर्जिकल और अन्य कई विकल्प में से किसी भी विकल्प का सुझाव दे सकते हैं। सभी विकल्पों का मुख्य लक्ष्य त्वचा को प्राकृतिक रूप से फिर से उजागर करना है। निम्नलिखित विकल्पों में से किसी एक या फिर कुछ समूह के संयोजन का सुझाव डॉक्टर दे सकते हैं - 

  • दाग पर लगाने के लिए क्रीम
  • खाने की दवाएं
  • प्लस अल्ट्रावायलेट लाइट का प्रयोग

इसके अतिरिक्त कुछ सर्जिकल विकल्पों पर भी डॉक्टर विचार कर सकते हैं। प्रभावित त्वचा पर शरीर के दूसरे भाग से त्वचा निकाल कर लगाया जाता है। अक्सर इस प्रकार के सर्जिकल प्रक्रिया को विटिलिगो के छोटे दागों के इलाज के लिए अपनाया जाता है। 

इसके अतिरिक्त कुछ और बातों का अवश्य ध्यान देना चाहिए जैसे - 

सफेद दाग से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

 

सफेद दाग का रामबाण इलाज क्या है?

सफेद दाग का कोई रामबाण इलाज नहीं है, लेकिन कुछ तरीकों से इस स्थिति को नियंत्रित किया जा सकता है। घरेलू उपचार के साथ-साथ दवाएं और निरंतर जांच से स्थिति को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। 

सफेद दाग कैसे फैलता है?

सामान्यतः सफेद दाग को एक स्वप्रतिरक्षी रोग की श्रेणी में रखा जाता है, जिसका अर्थ है कि शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली स्वस्थ मेलेनिन कोशिकाओं पर हमला करती है, जिससे यह शरीर के अलग-अलग भाग को प्रभावित करता है। 

क्या सफेद दाग छूने से फैलता है?

विटिलिगो या सफेद दाग छूने से नहीं फैलता है। लेकिन कुष्ठ रोग या फंगल संक्रमण के कारण होने वाले सफेद दाग संक्रामक होते हैं और वह छूने से फैल सकते हैं। 

सफेद दाग में क्या खाना चाहिए?

सफेद दाग वाले लोगों को स्वस्थ आहार खाने की सलाह दी जाती है, जिसमें विटामिन सी, विटामिन ई, और जिंक से भरपूर खाद्य पदार्थ शामिल हों। इन पोषक तत्वों शरीर में सफेद दाग को हटाने में मदद मिलती है।

क्या सफेद दाग अनुवांशिक होता है?

कुछ मामलों में सफेद दाग अनुवांशिक रोग होता है। लेकिन यह हमेशा सच नहीं होता है। यदि आपके घर-परिवार में किसी को सफेद दाग की समस्या है, तो आपको इस स्थिति के विकसित होने का थोड़ा अधिक खतरा होता है।

क्या सफेद दाग ठीक हो सकता है?

सफेद दाग का इलाज संभव है, लेकिन यह हमेशा सफल नहीं होता है। उपचार के प्रकार और सफलता की दर सफेद दाग की गंभीरता और व्यक्तिगत विशेषताओं पर निर्भर करता है।

सफेद दाग में क्या लगाना चाहिए?

सफेद दाग के इलाज के लिए कई तरह के क्रीम और लोशन उपलब्ध है। इनमें स्टेरॉयड, विटामिन सी, और विटामिन ई शामिल है। हालांकि, इन उत्पादों के प्रभावकारिता के बारे में हम कोई पुष्टि नहीं करते हैं और न ही उन्हें उपयोग करने का सुझाव देते हैं। 

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि सफेद दाग एक जटिल स्थिति है और इसका कोई आसान इलाज नहीं है। यदि आपको सफेद दाग है, तो अपने डॉक्टर से बात करें ताकि वह आपके लिए सबसे अच्छा उपचार विकल्प निर्धारित कर सके।