Why choose us

Why choose us

Delivering global standards of clinical excellence

Our commitment to delivering high-quality care inspires our decision making. Our team adheres to international and national protocols and policies, including those adapted from the UK's NHS guidelines to ensure clinically reliable and safe healthcare delivery. Our team of nationally & internationally recognised clinicians are considered as leaders in their field.

Integrity in healthcare delivery

We partner with you to consistently maintain integrity in healthcare delivery across our services. Our care team and support staff provide compassionate care with the purpose of bringing transparency into your healthcare plan.

A promise of trust, empathy & continuity of care

Our patients are at the heart of what we do. Our caregivers are always willing to go the extra mile for you and promote trust by upholding ethical behaviour in all our actions. We offer professional, compassionate care delivered with warmth, responsiveness and sensitivity.

of Clinical Experience
Patients Treated
Patient Satisfaction Score
Successful Surgeries
Total Number of Doctors
Our services
Our services
Patient testimonials
Patient testimonials

Meet our doctors
Meet our doctors

Blogs

लो बीपी (लो ब्लड प्रेशर) : लक्षण, कारण और उपचार

लो ब्लड प्रेशर या निम्न रक्तचाप एक स्वास्थ्य स्थिति है, जिसमें शरीर में रक्त प्रवाह द्वारा धमनियों पर डाला जाने वाला दबाव कम हो जाता है। आमतौर पर लो ब्लड प्रेशर के कोई खास लक्षण नहीं होते हैं। कई बार अचानक से बीपी लो होने के कारण चक्कर आने, सिर घूमने और हाथ-पैर में कंपन जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं। सामान्य तौर पर एक स्वस्थ व्यक्ति का बीपी 120/80 मिमी एचजी होता है। वहीं लो बीपी 90/60 मिमी एचजी या इससे नीचे होता है। लो बीपी की वजह से ब्रेन स्ट्रोक और हार्ट अटैक जैसी स्वास्थ्य समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

Your Ultimate Guide to Cardiac Ablation: Procedure, Risks, and Recovery

Cardiac ablation is a minimally invasive procedure that has reformed the treatment landscape, offering a pathway to revive regular heart rhythm patterns and enhance quality of life.

यूरिक एसिड बढ़ने पर इन चीजों को करें डाइट से आउट

शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने से कई प्रकार की बीमारियां उत्पन्न होती हैं जैसे गठिया और गाउट। इस स्थिति को चिकित्सा भाषा में हाइपरयूरिसीमिया (Hyperuricemia) और हिंदी में यूरिक अम्ल कहा जाता है। 

इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ईडी): क्या है और इसका इलाज कैसे करें

इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile Dysfunction) एक गंभीर समस्या है, जो पुरुषों में नपुंसकता का मुख्य कारण बनता जा रहा है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन वह स्थिति है, जिसमें पुरुष का लिंग (पेनिस) यौन संबंध के दौरान उत्तेजित नहीं होता है या उत्पन्न हुई उत्तेजना को बनाए रखने में परेशानी होती है।

एंडोमेट्रियोसिस क्या है? जानिए कारण, लक्षण एवं उपचार

एंडोमेट्रियोसिस (Endometriosis) स्त्रियों में होने वाली एक आम समस्या है, जिसमें महिलाओं को असहनीय दर्द और समस्या का सामना करना पड़ता है।

डायरिया: लक्षण, कारण, निदान, इलाज और रोकथाम

डायरिया या दस्त (Diarrhea) एक ऐसी स्थिति है, जिसमें मल त्याग पतला और बार-बार होता है। यह स्थिति व्यक्ति को दो मुख्य कारणों से परेशान करती है - गैस्ट्रोएंटेराइटिस (पेट का फ्लू) (gastroenteritis) या माइक्रोबियल इंफेक्शन (Microbial Infection)
Chairperson's Message
Chairperson's Message

At the CK Birla Group, the winds of change are creating tremendous opportunities for all stakeholders. I see this as the next step in an exciting 150-year journey, and I am proud that the CK Birla Group has faithfully carried forward the legacy of the Birla family. Year after year, we have created value for customers, partners, our people, and communities. We have also built enviable capabilities in engineering, technology, and manufacturing.

Read more

Call Back Whatsapp Lab reportLab report/login